Skip to main content

Posts

मेष बदलकर कालाबाजारी रोकना

आदरणीय सम्पादक जी                                  सादर प्रणाम          पुराने जमाने में राजा-महाराजा अपने गुप्तचरों को भेष बदलकर राज्य के सुख-दुख के समाचार प्राप्त कर समस्याओं के निवारण का कार्य किया करते थे।राजा विक्रमादित्य जी महराज तो स्वयं ही भेष बदलकर राज्य में घूमा करते थे।और प्रजा के दुखों को दूर किया करते थे। उनके राज्य में इसी कारण कदाचार, अनाचार,व्यभिचार का कोई स्थान नहीं था।            लोगों में भय व्याप्त था। महाराज ने जाने किस भेष में प्रकट हों जाय।कोरोना वायरस के कारण लाकडाऊन में कालाबाजारी को रोकने के लिए बनारस के डी.एम.और एस.पी.नें भेष बदलकर कालाबाजारी को पकड़ा और दण्डित किया।          यह एक बहुत ही सराहनीय कदम कहा जा सकता है।इसके इन डी.एम.साहब तथा एस.पी.साहब की जितनी  भी प्रशंसा की जाय कम है।डी.एम.साहब एस.पी.साहब बनारस अवश्य ही साधुवाद के पात्र हैं। 
          यदि इसी तरह सभी जिलों के डीएम और एसपी तथा अन्य आला अधिकारी भेष बदलकर इसी तरह कालाबाजारी तथा अन्य कदाचार रोकने की कोशिश करें तो शायद कालाबाजारियों में भय व्याप्त हो जाय।सुशासन कायम किया जा सकता है।जनता ऐसे अधिकारियो…
Recent posts

लाकडाउन ही कोरोना प्रसार को रोकने का सशक्त माध्यम

आदरणीय सम्पादक जी                                सादर प्रणाम          कोरोना इस समय विश्व व्यापी महामारी बनकर विश्व पटल पर छा गई है।सारी दुनिया के शेयर मार्केट धड़ाम हो गये हैं।पूरी दुनिया की 1/6आबादी घरों में कैद है। चीन से उद्गमित यह कोरोना वायरस पूरी दुनिया के लिए चिंता का सबब बनी हुई है।           भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की पूरी दुनिया में भूरि-भूरि प्रशंसा हो रही है। मोदीजी ने शुरू में ही जनता कर्फ्यू तथा लाकडाऊन का निर्णय लेकर सामुदायिक कोरोना प्रसार को रोकने में अवश्य ही सफलता प्राप्त की है।           राष्ट्र के सम्बोधन तथा मन की बात के माध्यम से भारत की जनता को कोरोना वायरस के भयानक महामारी को जनता को समझाने में कामयाब साबित हुए हैं। भारत जैसे अधिक जनसंख्या घनत्व वाले देश में लाशों के ढ़ेर लग जाना अवस्यम्भावी था। लेकिन मोदी जी की दूरदर्शिता और कठोर निर्णय के कारण ही भारत में कोरोना अपने पैर पसारने में अधिक सफल नहीं हो सका है।           जनता से बार-बार मोदी जी की अपील सार्थक साबित हुई है। कुछ लोग अवश्य लाकडाऊन की चेन तोड़ देते हैं।जो चिंता का सबब है।जनता से निवेद…

कोढ़ में खाज

आदरणीय सम्पादक जी                                 सादर प्रणाम         भारत एक विशाल देश है।इसकी कुल आबादी लगभग एक अरब तीस करोड़ के आस-पास है। भारतीयों की रोग प्रतिरोधक क्षमता अद्भुत और बहुत ही मजबूत है। वर्तमान समय में कोरोना वायरस के संक्रमण विश्व के लगभग 188 देश सामना कर रहे हैं।            हमारे भारत देश में भी इस वायरस नें हमला कर रखा है। अन्य देशों के मुकाबले भारत में जनसंख्या घनत्व अधिक है।हम विश्व की दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाले देश के रूप में स्थापित हैं।           इस वायरस का प्रकोप अपेक्षाकृत धीमा ही कहा जा सकता है।इसका सारा श्रेय हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी तथा स्वास्थ्य मंत्री श्री हर्षवर्धन जी तथा स्वास्थ्य मंत्रालय को जाता है। हमारी सरकार ने पहली मीटिंग 8 जनवरी को ही कर ली थी।और जनता कर्फ्यू तथा लाकडाऊन का निर्णय बहुत पहले कर लिया था। जिसके कारण कोरोना वायरस का प्रकोप अवश्य ही धीमा है। आजतक लगभग 2300 के आसपास ही संक्रमित मरीजों की संख्या है।कुल मौतें 56 के ही आसपास हैं। जबकि पूरे विश्व में संक्रमित मरीजों की संख्या लगभग 10 लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है। इसके लिए भ…

भारत की नारी शक्ति & अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस

helpsir.blogspot.com

आदरणीय सम्पादक जी                                 सादर प्रणाम          8 मार्च 2020 को इस वर्ष का अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाएगा। प्रतिवर्ष 8 मार्च को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है।संयोग से इस वर्ष 8 मार्च को ही  ICC T20 महिला क्रिकेट विश्व कप फाइनल भारतीय टीम 20 महिला क्रिकेट टीम बनाम आस्ट्रेलिया की 20 महिला क्रिकेट टीम के बीच फाइनल क्रिकेट मैच निर्धारित है।           सेवा अरब भारतवासियों की दुवाएं और समर्थन, शुभकामनाएं भारतीय महिला टीम 20 क्रिकेट टीम के साथ हैं। भारतीय महिला टी 20 टीम की कप्तान हरमन प्रतीत कौर तथा महिला टी 20 रैंकिंग में नं.1पर काबिज शेफाली वर्मा एवं प्रमुख गेंदबाज पूनम यादव जी से निवेदन है कि फाइनल में महिला टी 20 आस्ट्रेलिया टीम को हराकर इतिहास रच दो।और"कर लो दुनिया मुट्ठी में"। साबित कर दो कि " सबसे आगे होंगे हिन्दुस्तानी"।              भारतीय महिला टी 20 टीम अब तक सभी मैच जीतकर अपराजेय है। विश्व विजय केवल एक कदम दूर है।और तिरंगा विश्व क्षितिज पर लहराने ही वाला है। भारतीय नारी शक्ति सदा से ही अपराजेय रही है…

माध्यमिक0 शि0 प0 उ0प्र0 की बोर्ड परीक्षाएं और सहालग में डी0 जे0 का कान फोड़ू संगीत।

helpsir.blogspot.com

आदरणीय सम्पादक जी                                 सादर प्रणाम           18-02-2020 से माध्यमिक शिक्षा परिषद बोर्ड प्रयागराज की हाई स्कूल और इण्टरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाओं की शुरुआत हुई है। छात्र-छात्राओं को पढ़ने के लिए बिजली और शांति की जरूरत है।इधर सहालग भी अपने उरोज पर है।सहालगों में डी.जे.का कानफोड़ू संगीत एक अनिवार्य आवश्यकता ही बन गई है।                    जबरदस्ती अपनी खुशी का संगीत दूसरों को सुनवाना एक चलन सा बन गया है।जिसके कारण पढ़ने लिखने वाले छात्र-छात्राओं का पठन-पाठन खासा प्रभावित हो रहा है। छात्र-छात्राओं को जबरदस्ती कानफोड़ू संगीत सुनने पर विवश होना पड़ रहा है।जिससे उनकी एकाग्रता अवश्य ही प्रभावित होती है। पठन-पाठन में व्यवधान पैदा होता है।            अतः सभी बारात मालिकों बराती-घराती बन्धुओं से निवेदन है कि छात्र-छात्राओं के हितों को ध्यान में रखते हुए कानफोड़ू डी.जे.संगीत तथा अन्य वाद्ययंत्रों की ध्वनियां सीमित रखनी चाहिए। शादी-ब्याह भी एक बार ही होता है।आप खुशी अवश्य मनाएं। लेकिन परीक्षार्थियों की परीक्षा भी साल में एक ही बार होती है। अतः परीक्षार्थ…

डिजिटल युग मे भी जिला अस्पतालों के आस - पास बैंक ग्राहक सेवा केन्द्रों की कमी।

helpsir.blogspot.com

आदरणीय सम्पादक जी                                 सादर प्रणाम          21 वीं सदी डिजिटल क्रांति के नाम से जानी जाती है।इस सदी में तकनीक और डिजिटल क्रांति की जबरदस्त उड़ान भरी गई है। सरकार भी डिजिटल भुगतान पर जोर दे रही है। गांव-गांव सहज जन सेवा केन्द्रों के माध्यम से तथा बैंक ग्राहक सेवा केन्द्रों के माध्यम से आधार आधारित भुगतान को सुगम बना दिया है।           परन्तु वी.आई.पी.कहे जाने वाले जनपद रायबरेली शहर में आधार आधारित भुगतान का केवल एक केन्द्र कलेक्ट्रेट के पास ही है।वह भी 24 घंटे सेवा नहीं प्रदान करता है। जिला अस्पताल रायबरेली में गैर जनपद अथवा रायबरेली जनपद के मरीजों को समय,असमय भर्ती मरीजों को धन की जरूरत पड़ने पर यदि ए.टी.एम.कार्ड की अनुपलब्धता होने पर आधार कार्ड होते हुए भी तीमारदारों को धन होते हुए भी लाचारी का सामना करना पड़ता है।          अत: सरकार से निवेदन है कि प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों के आस-पास बैंक ग्राहक सेवा केन्द्रों को खोले जाने की जरूरत है।क्योंकि सबसे ज्यादा इमरजेंसी धन निकालने की अस्पतालों में ही होती है।ताकि लोगों को धन रहते हुए भी लाचारी…

कोरोना वायरस और मांसाहार में सम्बन्ध

helpsir.blogspot.com

आदरणीय सम्पादक जी                                सादर प्रणाम         भारत हमेशा से ही ऋषि, मुनियों का देश रहा है। पौराणिक कथाओं के अनुसार सप्त ऋषियों को देश लोक में भी तप बल से बेरोक-टोक आने-जाने की इजाज़त प्राप्त थी।कश्यप,कपिल मुनि,अगत्स्य ऋषि(घटजोनी)नारद, बाल्मीकि आदि ऋषियों का वर्णन मिलता है। जिन्हें अलौकिक शक्ति प्राप्त थी। हमारे पूर्वज बहुत ही ज्ञानी,ध्यानी मनीषी थे।             भारत में मांसाहार पूर्णता वर्जित था। यहां तक कि औषधीय गुणों से परिपूर्ण होने के बावजूद लहसुन और प्याज को भी तामसी भोज्य पदार्थ के कारण वर्जित माना गया था।          आज अखबारों में सुर्खियां बटोरने वाले कोरोना वायरस का कारण सांप और चमगादड़ को ही वैज्ञानिकों ने माना है।चीन में सभी जीव-जंतुओं को भक्षण किया जाता है।          चीन में लगभग 3000लोग कोरोना वायरस से ग्रसित हैं।300के लगभग मौतें हो चुकी हैं। चीन के अतिरिक्त फिलीपींस और हांगकांग में भी एक-एक मौतें हो चुकी हैं।चीन में अध्ययनरत तीन भारतीय विद्यार्थियों में भी इस वायरस की पुष्टि हो चुकी है।जिनका भारत में इलाज चल रहा है।         भारतीय चिकि…